♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

दोआबा फार्मेसी कॉलेज को आईकेजीपीटीयू से मिला प्रशंसा पत्र

 

मोहाली 24 जून (विजय)। दोआबा ग्रुप समूह के प्रबंधन ने विश्वविद्यालय द्वारा संचालित ऑनलाइन कक्षाओं की सराहना करते हुए कहा कि कोरोना महामारी के दौरान जहां छात्रों के स्वास्थ्य का ध्यान रखा गया, वहीं इससे उनकी पढ़ाई प्रभावित नहीं हुई । उन्होंने कहा कि 2020 से छात्रों के लिए यह चिंता का विषय रहा है कि वे कक्षा में एक साथ कैसे पढ़ सकते हैं ताकि छात्र कोरोना महामारी के नियमों को ध्यान में रखते हुए कक्षा में बैठकर भी अपनी दूरी बनाए रख सकें। ऐसे में ऑनलाइन शिक्षा इसका अच्छा समाधान था । इस संबंध में खुशी जाहिर करते हुए दोआबा ग्रुप ऑफ कालेजिज के एग्जीक्यूटिव वाइस चेयरमैन मंजीत सिंह ने कहा कि दोआबा कॉलेज ऑफ फार्मेसी को इंदर कुमार गुजराल पंजाब टेक्निकल यूनिवर्सिटी से ऑनलाइन शिक्षा देने के लिए प्रशस्ति पत्र मिला है।
उन्होंने कहा कि यह प्रशंसा पत्र उन्हें प्रभावी प्रशिक्षण, बेहतर तकनीक, तेज नेटवर्क और आसान प्रशिक्षण पद्धति के लिए दिया गया है । सरदार मंजीत सिंह  ने आगे बोलते हुए कहा कि छात्रों का सर्वांगीण विकास हमारी प्राथमिकता है और हमें इस महामारी के दौरान भी उन्हें सभी सुविधाएं प्रदान करने में खुशी हो रही है ल दोआबा ग्रुप के मैनेजिंग वाइस चेयरमैन सुखविंदर सिंह संघा ने इस सराहना के लिए यूनिवर्सिटी का धन्यवाद किया।  फार्मेसी के क्षेत्र में भी फार्मेसी कॉलेज के प्रख्यात विद्वान और निदेशक डॉ अमर सिंह ने कहा कि हमारी शिक्षा के रंग में छात्रों के लिए अच्छे नोट्स और वीडियो व्याख्यान शामिल हैं और साथ ही हम सर्वश्रेष्ठ फार्मेसी प्रशिक्षण और अस्पताल प्रशिक्षण प्रदान करते हैं। उल्लेखनीय है कि 1998 में स्थापित दोआबा ग्रुप ऑफ कॉलेज ने तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में अपना नाम बनाया है और अब महामारी संकट के समय में छात्रों को ऑनलाइन शिक्षा प्रदान करने में सबसे आगे है

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button




स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे


जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Close
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129